Techly360.jpg

ग्राम प्रधान का वेतन : Gram Pradhan Ki Vetan Kitni Hai

Gram Pradhan Ki Salary: नमस्कार दोस्तों, स्वगात् है आपका Techly360 हिंदी ब्लॉग में। और आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे की Gram Pradhan Ki Salary Kitni Hoti Hai? अक्सर लोग ऐसे सवाल गूगल पर पूछते रहते है। लेकिन उन्हें ग्राम प्रधान का वेतन कितना होता है? इसका जवाब ही नही मिलता है।

वैसे अगर आप समाज की जानकारी और समाज में दिलचस्पी रखते है तो आपको पता होगा की ग्राम प्रधान का क्या काम होता है? चुकी यह एक सरकारी पर है, लेकिन इस पद के लिए Candidate को एक खास ग्राम पंचायत के लोगो द्वारा ही चुना जाता है।

Gram Pradhan Ka Vetan Kitna Hota Hai

ग्राम प्रधान क्या है Gram Pradhan कैसे बने

ग्राम प्रधान को हम मुखिया के नाम से जानते है। चुकी भारत की लगभग 72% जनसंख्या ग्रामीण इलाको में रहती है। और भारतीय संविधान के अनुसार हरेक ग्राम पंचायतो में एक ग्राम प्रधान का पद होता है। और ग्राम प्रधान को उस खास पंचायत का प्रमुख माना जाता है।

ग्राम की विकास योजना और गाव की देखभाल के साथ साथ सभी चीजों की उपलब्धी ग्राम प्रधान (Mukhiya) काम कार्य होता है। चुकी इसके अलावे भी गाव के मुखिया के अन्य बहुत से कार्यो को संपन्न करना होता है।

Gram Pradhan Kaise Bane – ग्राम प्रधान बनने के लिए एक खास कैंडिडेट को चुनाव में खड़ा किया जाता है। और इसके लिए उस ग्राम प्रधान कैंडिडेट के पास योग्यता होना जरुरी है। साथ ही जब ग्राम प्रधान का चुनाव होता है, और जो चुनाव जीतता है वही ग्राम प्रधान बनता है।

ग्राम प्रधान का वेतन कितना होता है – Salary of Gram Pradhan

दोस्तों अगर आप भी जानना चाहते है की Gram Pradhan की Salary कितनी होती है? तो आपपको सबसे पहले यह जानना होगा की भारत में कुछ 28 राज्य है और सभी राज्यों में ग्राम प्रधान की वेतन अलग अलग होती है। तो निचे मैंने कुछ राज्यों के वेतन के बारे में आपको बताया है।

1. उत्तर प्रदेश में ग्राम प्रधान का वेतन

उत्तर प्रदेश में Gram Pradhan को मानदेय के रूप में करीब करीब 3500रु मिलता है। इसके साथ साथ कुछ और भी अन्य भत्ता मिलता है। अन्य भत्ता में से एक है यातायात भत्ता, यातायात भत्ता के रूप में उत्तर प्रदेश ग्राम प्रधान को 15,000 रु मिलता है।

मासिक मानदेय + यातायात भत्ता = ग्राम प्रधान की तनख्वाह
₹3500 + ₹15000 = ₹18500

उत्तर प्रदेश के तर्ज पर ही पड़ोसी राज्य उत्तराखंड, दिल्ली, मध्यप्रदेश, झारखण्ड, बिहार में ग्राम प्रधान का वेतन मिलता है?

यातायात भत्ता ग्राम प्रधान को ही क्यों मिलता है?

बहुत से दोस्तों और ब्लॉग रीडर्स ने मुझसे पूछा था की ग्राम प्रधान को यातायात भत्ता क्यों मिलता है? तो मैं आप सबको बता देना चाहता हूँ की ग्राम प्रधान को गाव ए विकास कार्यो को संपन्न करने के लिए बात बार Block (प्रखंड – जनपद) में जाना होता है। और इन आने जाने वाले खर्च को यातायात भत्ता के रूप में ग्राम प्रधान को दिया जाता है।



ग्राम प्रधान से जुड़े और सवाल: Gram Pradhan FAQs

Q1: ग्राम प्रधान का कार्यकाल कितना होता है?

Ans: 5 साल

Q2: ग्राम प्रधान के लिए योग्यता क्या है?

Ans: ग्राम प्रधान या सरपंच के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता हर राज्य के लिए अलग अलग निर्धारित है।

Q3: ग्राम प्रधान बनने की आयु क्या है?

Ans: ग्राम पंचायत चुनाव लड़ने की उम्र 2020 में कम से कम 21 वर्ष होनी चाहिए।

Q4: ग्राम पंचायत चुनाव लड़ने के लिए जरूरी दस्तावेज क्या हैं?

Ans: 1) शपथ पत्र
2) अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों के लिए जारी जाति प्रमाण
न्यूनतम आयु 21 वर्ष पूरी होनी चाहिए
3) निर्वाचन क्षेत्र/ग्राम पंचायत की मतदाता सूची में उसका नाम
4)इन सभी दस्तावेजों के अलावा चरित्र प्रमाण-पत्र, आय प्रमाण-पत्र, आधार कार्ड, पेनकार्ड, मूलनिवास तथा पुलिस सत्यापन आदि की आवश्यकता हो सकती है।


निष्कर्ष : दोस्तों आपको यह ग्राम प्रधान का वेतन : Gram Pradhan Ka Vetan Kitna Hota Hai का आर्टिकल कैसा लगा? निचे कमेंट करके जरुर बताये और किसी प्रकार की दूसरी जानकारी चाहिए तो आप निचे कमेंट करके पूछ सकते है। साथ ही इस पोस्ट को सोशल माडिया पर जरुर शेयर करे।

ग्राम प्रधान का वेतन : Gram Pradhan Ki Vetan Kitni Hai

Leave a Comment

Share via
Copy link