[Ans.] वर्ग संघर्ष के सिद्धांत का प्रतिपादन किसने किया?

वर्ग संघर्ष के सिद्धांत का प्रतिपादन किसने किया – नमस्कार दोस्तो! स्वागत हैं आपका Techly360.com हिन्दी ब्लॉग में. और आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे Varg Sangharsh Ke Siddhant Ka Pratipadan Kisne Kiya तो अगर आपके मन मे भी यही सवाल चल रहा था, तो इस सवाल का जवाब मैंने नीचे उपलब्ध करवा दिया हैं.

दोस्तों आप लोगों मे से बहुत सारे दोस्तों ने इस सवाल का जवाब जानने के लिए गूगल असिस्टेंट से जरूर पूछा होगा की “ओके गूगल वर्ग संघर्ष के सिद्धांत का प्रतिपादन किसने किया” या “वर्ग संघर्ष का सिद्धांत किसने दिया है” और गूगल असिस्टेंट इस सवाल से जुड़ी कई और सवाल और उसका उत्तर आपके साथ साझा (Share) करता हैं.

क्या, कैसे, कहाँ, क्यों, है, आदि, जाने

वर्ग संघर्ष के सिद्धांत का प्रतिपादन किसने किया / Varg Sangharsh Ke Siddhant Ka Pratipadan Kisne Kiya?

दोस्तों! वर्ग संघर्ष का सिद्धांत कार्ल मार्क्स और फ्रेडरिक एंगेल्स ने दिया था. यह सिद्धांत बताता है कि समाज दो वर्गों में विभाजित है. पूंजीपति वर्ग और श्रमिक वर्ग. पूंजीपति वर्ग वे लोग हैं जो उत्पादन के साधनों के मालिक हैं, जबकि श्रमिक वर्ग वे लोग हैं जो उत्पादन के साधनों के मालिक नहीं हैं और पूंजीपति वर्ग के लिए काम करते हैं.

मार्क्स और एंगेल्स का हमेशा से ही यह मानना था कि पूंजीपति वर्ग हमेशा श्रमिक वर्ग का शोषण करता है. वे कहते थे कि पूंजीपति वर्ग श्रमिक वर्ग को कम वेतन देता है और उनसे अधिक काम करवाता है. वे कहते थे कि यह शोषण श्रमिक वर्ग के लिए एक समस्या है और यह समाज में संघर्ष पैदा करता है.

जानिए – नैतिक तर्कवाद सिद्धांत कौन देता है?

मार्क्स के अनुसार वर्ग संघर्ष का परिणाम क्या होगा / Marks Ke Anusar Varg Sangharsh Ka Parinaam Kya Hoga?

कार्ल मार्क्स और फ्रेडरिक एंजेल्स के अनुसार, वर्ग संघर्ष का परिणाम अंततः साम्यवाद के आगमन में होगा. साम्यवाद एक ऐसी समाज व्यवस्था है जिसमें कोई वर्ग नहीं होगा, और सभी लोग समान होंगे. मार्क्स और एंजेल्स का मानना था कि पूंजीवाद एक ऐसी प्रणाली है जो अंततः अपने स्वयं के पतन का कारण बनेगी.

क्योंकि, कार्ल मार्क्स और फ्रेडरिक एंजेल्स मानना ​​था कि श्रमिक वर्ग अंततः अपने शोषण के प्रति जागरूक हो जाएगा और पूंजीपति वर्ग के खिलाफ क्रांति करेगा. इस क्रांति के बाद, श्रमिक वर्ग एक साम्यवादी समाज का निर्माण करेगा.

साम्यवादी समाज में, उत्पादन के साधनों पर सार्वजनिक स्वामित्व होगा और सभी लोगों के बीच धन और संसाधनों का समान वितरण होगा. कोई वर्ग या राज्य नहीं होगा और सभी लोग स्वतंत्र और समृद्ध होंगे.

इन्ही से संबंधित खोजें गए प्रश्न

वर्ग संघर्ष के सिद्धांत का प्रतिपादन किसने किया – varg sangharsh ka siddhant kisne diya hai
वर्ग संघर्ष का सिद्धांत किसने प्रतिपादित किया – varg sangharsh ka siddhant kisne pratipadit kiya
मार्क्स के वर्ग संघर्ष सिद्धांत की विवेचना कीजिए – marks ke varg sangharsh ki vivechna kijiye
वर्ग संघर्ष के सिद्धांत की विवेचना कीजिए – varg sangharsh ki vivechna kijiye
वर्ग संघर्ष के सिद्धान्त का प्रतिपादन किसने किया?
varg sangharsh ke siddhant ka pratipadan kisne kiya?
मार्क्स के अनुसार वर्ग संघर्ष का परिणाम क्या होगा?
marks ke anusar varg sangharsh ka parinaam kya hoga?
कार्ल मार्क्स के वर्ग संघर्ष के सिद्धांत का वर्णन कीजिए?
marks ke varg sangharsh ka siddhant ka varnan kijiye?


निष्कर्ष – दोस्तों आपको यह “वर्ग संघर्ष के सिद्धांत का प्रतिपादन किसने किया – Varg Sangharsh Ke Siddhant Ka Pratipadan Kisne Kiya” का आर्टिकल कैसा लगा? निचे हमे कमेंट करके जरुर बताये. साथ ही इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर जरुर करे.