ट्रांस प्रभाव क्या है / Trans Prabhav Kya Hai?

ट्रांस प्रभाव क्या है – नमस्कार दोस्तो! स्वागत हैं आपका Techly360.com हिन्दी ब्लॉग में. और आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे Trans Prabhav Kya Hai तो अगर आपके मन मे भी यही सवाल चल रहा था, तो इस सवाल का जवाब मैंने नीचे उपलब्ध करवा दिया हैं.

दोस्तों आप मे से बहुत सारे दोस्तों ने इस सवाल का जवाब जानने के लिए गूगल असिस्टेंट से जरूर पूछा होगा की “ओके गूगल, ट्रांस प्रभाव क्या है”? या “ट्रांस प्रभाव की परिभाषा क्या है”? और गूगल असिस्टेंट आपको इस सवाल से जुड़ी कई और सवाल और उसका उत्तर आपके साथ साझा करता हैं.

क्या, कैसे, कहाँ, क्यों, है, आदि, जाने

ट्रांस प्रभाव क्या है?

ट्रांस प्रभाव (Trans Effect) – दोस्तों! यह एक रसायन शास्त्रीय शब्द है जो एक मौल के दो अधिक प्रतिस्थापन आवेशों (Ligands) के मध्य संश्लेषण की क्षमता में अंतर का वर्णन करता है. इसका अर्थ होता है कि जब दो अधिक प्रतिस्थापन आवेश एक मौल के दो अलग-अलग धातु की आवेशिकता के साथ बाधात्मक संबंध बनाते हैं, तो उनके बीच संश्लेषण की क्षमता में अंतर होता है. इसलिए इसे ट्रांस इफेक्ट के रूप में जाना जाता है.

इन्ही से संबंधित खोजें गए प्रश्न

ट्रांस प्रभाव क्या है – trans prabhav kya hai
ट्रांस प्रभाव क्या होता है – trans prabhav kya hota hai
ट्रांस प्रभाव किसे कहते हैं – trans prabhav kise kahate hai
ट्रांस प्रभाव किसे कहा जाता है – trans prabhav kise kaha jata hai
ट्रांस प्रभाव की परिभाषा क्या है – trans prabhav ki paribhasha kya hai
ट्रांस प्रभाव को परिभाषित कीजिए – trans prabhav ko paribhashit kijiye
ट्रांस प्रभाव से आप क्या समझते हैं – trans prabhav se aap kya samajhte hain


निष्कर्ष दोस्तों आपको यहट्रांस प्रभाव क्या हैTrans Prabhav Kya Hai का आर्टिकल कैसा लगा? निचे हमे कमेंट करके जरुर बताये. साथ ही इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर जरुर करे.