[Ans.] श्रृंगार रस का स्थायी भाव क्या है?

श्रृंगार रस का स्थायी भाव क्या है – नमस्कार दोस्तो! स्वागत हैं आपका Techly360.com हिन्दी ब्लॉग में. और आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे Shringar Ras Ka Sthayi Bhav Kya Hai तो अगर आपके मन मे भी यही सवाल चल रहा था, तो इस सवाल का जवाब मैंने नीचे उपलब्ध करवा दिया हैं.

दोस्तों आप लोगों मे से बहुत सारे दोस्तों ने इस सवाल का जवाब जानने के लिए गूगल असिस्टेंट से जरूर पूछा होगा की “ओके गूगल श्रृंगार रस का स्थायी भाव क्या है”? या “श्रृंगार रस का स्थायी भाव क्या होता है” और गूगल असिस्टेंट ने इस सवाल से जुड़ी कई और सवाल और उसका उत्तर आपके साथ साझा करता हैं.

क्या, कैसे, कहाँ, क्यों, है, आदि, जाने

श्रृंगार रस का स्थायी भाव क्या है / Shringar Ras Ka Sthayi Bhav Kya Hai?

दोंस्तों! श्रृंगार रस का स्थाई भाव रति है. इस रस में प्रेम व रति या वियोग का भाव निहित होता है. श्रृंगार रस में आलम्बन विभाव नायक और नायिका हैं. इसे रस को रसपति या रसों का राजा (रसराज) कहा जाता है.

श्रृंगार रस में प्रेम के अलावा विभिन्न रूपों में सौंदर्य भी महत्वपूर्ण होता है. यह रस दर्शकों को सुंदर वस्तुओं, प्राकृतिक सौंदर्य, सुंदरता के रूपों, रंगों, सुगंध, आदि के साथ भावनात्मक जुड़ाव को जगाता है. इसका मूल उद्देश्य दर्शकों को एक अत्यंत सुंदर, प्रेमपूर्ण और सहजता से भरी दुनिया में ले जाना होता है.

इन्ही से संबंधित खोजें गए प्रश्न

श्रृंगार रस का स्थायी भाव क्या है – shringar ras ka sthayi bhav kya hai
श्रृंगार रस का स्थायी भाव है – shringar ras ka sthayi bhav hai
श्रृंगार रस की परिभाषा क्या है – shringar ras ki paribhasha kya hai
श्रृंगार रस का उदाहरण कौन सा है – shringar ras ka udaharan kaun sa hai


निष्कर्ष दोस्तों आपको यह “श्रृंगार रस का स्थायी भाव क्या है – Shringar Ras Ka Sthayi Bhav Kya Hai” का आर्टिकल कैसा लगा? निचे हमे कमेंट करके जरुर बताये. साथ ही इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर जरुर करे.