[Ans.] खड़ी बोली गद्य की प्रथम रचना क्या है?

खड़ी बोली गद्य की प्रथम रचना क्या है – नमस्कार दोस्तो! स्वागत हैं आपका Techly360.com हिन्दी ब्लॉग में. और आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे Khadi Boli Gadya Ki Pratham Rachna Kya Hai तो अगर आपके मन मे भी यही सवाल चल रहा था, तो इस सवाल का जवाब मैंने नीचे उपलब्ध करवा दिया हैं.

दोस्तों आप लोगों मे से बहुत सारे दोस्तों ने इस सवाल का जवाब जानने के लिए गूगल असिस्टेंट से जरूर पूछा होगा की “ओके गूगल खड़ी बोली गद्य की प्रथम रचना क्या है”? या “खड़ी बोली गद्य की प्रथम रचना है कौन सी है” और गूगल असिस्टेंट ने इस सवाल से जुड़ी कई और सवाल और उसका उत्तर आपके साथ साझा करता हैं.

क्या, कैसे, कहाँ, क्यों, है, आदि, जाने

खड़ी बोली गद्य की प्रथम रचना क्या है / Khadi Boli Gadya Ki Pratham Rachna Kya Hai?

दोंस्तों! खड़ी बोली, जिसे खड़ी बोली व्याकरणिक रूप से भी जाना जाता है, भारतीय भाषा की एक रूपरेखा है जो गद्य रूप में लिखी जाती है. खड़ी बोली की प्रथम रचना “व्यास भाषा” (Vyas Bhasha) कहलाती है. इस रचना का अवधि 12वीं शताब्दी ईसा पूर्व के आस-पास मानी जाती है और यह संस्कृत के पश्चात् संस्कृती की एक प्राचीन रूपरेखा है.

इन्ही से संबंधित खोजें गए प्रश्न

खड़ी बोली गद्य की प्रथम रचना क्या है – khadi boli gadya ki pratham rachna kya hai
खड़ी बोली गद्य की प्रथम रचना का नाम क्या है – khadi boli ki pratham gadya rachna ka naam kya hai
खड़ी बोली गद्य की प्रथम रचना कौन है – khadi boli ki pratham gadya rachna kaun hai
खड़ी बोली गद्य की प्रथम रचना है कौन सी है – khadi boli ki pratham gadya rachna kaun si hai
खड़ी बोली गद्य की प्रथम रचना किसे माना जाता है – khadi boli ki pratham gadya rachna kise mana jata hai


निष्कर्ष दोस्तों आपको यह “खड़ी बोली गद्य की प्रथम रचना क्या है – Khadi Boli Gadya Ki Pratham Rachna Kya Hai” का आर्टिकल कैसा लगा? निचे हमे कमेंट करके जरुर बताये. साथ ही इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर जरुर करे.