धम्म का स्वरूप क्या है / Dhamm Ka Swaroop Kya Hai?

धम्म का स्वरूप क्या है – नमस्कार दोस्तो! स्वागत हैं आपका Techly360.com हिन्दी ब्लॉग में. और आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे Dhamm Ka Swaroop Kya Hai तो अगर आपके मन मे भी यही सवाल चल रहा था, तो इस सवाल का जवाब मैंने नीचे उपलब्ध करवा दिया हैं.

दोस्तों आप मे से बहुत सारे दोस्तों ने इस सवाल का जवाब जानने के लिए गूगल असिस्टेंट से जरूर पूछा होगा की “ओके गूगल धम्म का स्वरूप क्या है? और गूगल असिस्टेंट आपको इस सवाल से जुड़ी कई और सवाल और उसका उत्तर आपके साथ साझा करता हैं.

क्या, कैसे, कहाँ, क्यों, है, आदि, जाने

धम्म का स्वरूप क्या है / Dhamm Ka Swaroop Kya Hai?

धम्म (Dhamma) – दोस्तों! यह एक पाली शब्द है जो बौद्ध धर्म में प्रयुक्त होता है. यह एक संस्कृत शब्द “धर्म” से संबंधित है और अनुवादित होता है जैसे धारण करना या साधारण नियम. धम्म कई अर्थों में प्रयोग होता है, लेकिन बौद्ध धर्म में इसका मुख्य अर्थ यह है कि धर्म वह नियम और तत्त्व है जो मनुष्यों को दुःख से मुक्ति प्रदान करने के लिए सही जीने का मार्ग दर्शाता है. सम्राट अशोक के धम्म में साधुता, कल्याणकारी कार्य करना, पाप रहित होकर जीवन जीना, मधुर भाषा, दूसरों के प्रति मधुर एवं विनम्र व्यवहार करना, दूसरों के प्रति दया भाव रखना, निरंतर दान करते रहना, शुचिता, सदाचारी जीवन जीना जैसे नियम थे.

इन्ही से संबंधित खोजें गए प्रश्न

धम्म का स्वरूप क्या है – dhamm ka swaroop kya hai
अशोक के धम्म का स्वरूप क्या था – ashok ke dhamm ka swaroop kya tha
बौद्ध धर्म में धम्म का क्या अर्थ है – boudh dharm ke dhamm ka arth kya hai
अशोक का धम्म की क्या विशेषता है – ashok ka dhamm dhamm ki visheshta kya hai
धम्म का क्या कार्य था – dhamm ka kya karya tha
धम्म का अर्थ क्या है – dhamm ka kya arth hai


निष्कर्ष दोस्तों आपको यह धम्म का स्वरूप क्या हैDhamm Ka Swaroop Kya Hai का आर्टिकल कैसा लगा? निचे हमे कमेंट करके जरुर बताये. साथ ही इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर जरुर करे.