वट सावित्री का व्रत कैसे रखा जाता है?

वट सावित्री का व्रत कैसे रखा जाता है – नमस्कार दोस्तो! स्वागत हैं आपका Techly360.com हिन्दी ब्लॉग में. और आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे “Vat Savitri Ka Vrat Kaise Rakha Jata Hain” तो अगर आपके मन मे भी यही सवाल चल रहा था, तो इस सवाल का जवाब मैंने नीचे उपलब्ध करवा दिया हैं.

दोस्तों आप मे से बहुत सारे दोस्तों ने इस सवाल का जवाब जानने के लिए गूगल असिस्टेंट से जरूर पूछा होगा की “ओके गूगल वट सावित्री का व्रत कैसे रखा जाता है”? और गूगल असिस्टेंट आपको इस सवाल से जुड़ी कई और सवाल और उसका उत्तर आपके साथ साझा करता हैं.

क्या, कैसे, कहाँ, क्यों, है, आदि, जाने

वट सावित्री का व्रत कैसे रखा जाता है?

दोस्तों अगर आप जानना चाहते हैं, वट सावित्री का व्रत कैसे किया जाता है. तो इन जानकारी को फॉलो करें. ज्येष्ठ मास की अमावस्या के दिन वट वृक्ष की जड़ में जल चढ़ा कर तने पर रोली का टीका लगाया जाता है, इसके बाद चना, गुड़, घी आदि अर्पित करने के साथ ही देसी घी का दीपक प्रज्वलित किया जाता है. पूरी श्रद्धा के साथ कच्चे सूत से वृक्ष की पत्तियों की बनी हुई माला पहन कर सावित्री सत्यवान की कथा को सुना या पढ़ा जाता हैं.


निष्कर्ष – दोस्तों आपको यह “वट सावित्री का व्रत कैसे रखा जाता है – Vat Savitri Ka Vrat Kaise Rakha Jata Hain का आर्टिकल कैसा लगा? निचे हमे कमेंट करके जरुर बताये. साथ ही इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर जरुर करे.