मोल क्या है / Mol Kya Hai?

मोल क्या है – नमस्कार दोस्तो! स्वागत हैं आपका Techly360.com हिन्दी ब्लॉग में. और आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे Mol Kya Hai तो अगर आपके मन मे भी यही सवाल चल रहा था, तो इस सवाल का जवाब मैंने नीचे उपलब्ध करवा दिया हैं.

दोस्तों आप मे से बहुत सारे दोस्तों ने इस सवाल का जवाब जानने के लिए गूगल असिस्टेंट से जरूर पूछा होगा की “ओके गूगल मोल क्या होता है और ऐसे में गूगल असिस्टेंट आपको इस सवाल से जुड़ी कई और सवाल और उसका उत्तर आपके साथ साझा करता हैं.

क्या, कैसे, कहाँ, क्यों, है, आदि, जाने

मोल क्या है?

दोस्तों, मोल एक रासायनिक मात्रक है, यह एक SI मूल इकाई है, जो पदार्थ की मात्रा का मापन करता है और ऐसा माना जाता कि सन् 1896 ई० में मोल शब्द सर्वप्रथम विल्हेल्म ओस्टवाल्ड (Wilhelm Ostwald) द्वारा सार्वजनिक तौर पर प्रस्तावित किया गया था. किसी पदार्थ का एक मोल उसकी वह मात्रा है , जिसमें उतने ही कण उपस्थित होते हैं , जितने carbon-12 समस्थानिक के ठीक 12 ग्राम ( या 0.012 kg ) में परमाणुओं की संख्या होती है.

मोल क्या है – mol kya hai
मोल क्या होता है – mol kya hota hai
मोल किसे कहते है – mol kise kahte hai
मोल किसे कहा जाता है – mol kise kaha jata hain
मोल प्रभाज किसे कहते हैं – mol prabhaj kise kahte hain
मोल अंश किसे कहते हैं – mol ansh kise kahte hai
मोल का मात्रक क्या होता है – mol ka matrak kya hota hai
पानी का मोल क्या होता है – pani ka mol kya hota hai


निष्कर्ष दोस्तों आपको यहमोल क्या है – Mol Kya Hai” का आर्टिकल कैसा लगा? निचे हमे कमेंट करके जरुर बताये. साथ ही इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर जरुर करे.