भारत में दहेज निरोधक अधिनियम कब पारित हुआ था?

भारत में दहेज निरोधक अधिनियम कब पारित हुआ था – नमस्कार दोस्तो! स्वागत हैं आपका Techly360.com हिन्दी ब्लॉग में. और आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे Bharat Mein Dahej Nirodhak Adhiniyam Kab Parit Hua Tha तो अगर आपके मन मे भी यही सवाल चल रहा था, तो इस सवाल का जवाब मैंने नीचे उपलब्ध करवा दिया हैं.

दोस्तों आप लोगों मे से बहुत सारे दोस्तों ने इस सवाल का जवाब जानने के लिए गूगल असिस्टेंट से जरूर पूछा होगा की “ओके गूगल भारत में दहेज निरोधक अधिनियम कब पारित हुआ था” या “दहेज निरोधक अधिनियम कब पारित हुआ” और गूगल असिस्टेंट ने इस सवाल से जुड़ी कई और सवाल और उसका उत्तर आपके साथ साझा करता हैं.

क्या, कैसे, कहाँ, क्यों, है, आदि, जाने

भारत में दहेज निरोधक अधिनियम कब पारित हुआ था?

दोस्तों! भारत में दहेज निरोधक अधिनियम, जिसे दहेज प्रताड़ना (Prevention of Dowry) अधिनियम भी कहा जाता है, 1961 में पारित हुआ था. यह अधिनियम भारतीय संघ की संसद द्वारा पारित किया गया था और इसका उद्देश्य दहेज के तत्वों के खिलाफ लड़ाई लड़ना था. दहेज निरोधक अधिनियम में दहेज प्रथा को रोकने, दहेज़ संबंधी अपराधों को दण्डित करने और बेटियों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के उद्देश्य से कई प्रावधान हैं. यह अधिनियम दहेज के लिए नकदी, वस्त्र, स्वर्ण, गहने, दशा, माल, या किसी तरह की आर्थिक संपत्ति के माध्यम से मांग करने वाले के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की प्रावधान करता है.

दहेज निरोधक अधिनियम के तहत क्या दंड है?

दोस्तों! दहेज निषेध अधिनियम, 1961 के अनुसार दहेज लेने, देने या इसके लेन-देन में सहयोग करने पर 5 वर्ष की कैद और 15,000 रुपए के जुर्माने का प्रावधान है.

इन्ही से संबंधित खोजें गए प्रश्न

दहेज निरोधक अधिनियम कब पारित हुआ – dahej nirodhak adhiniyam kab parit hua
दहेज निषेध अधिनियम 1961 का क्या प्रभाव है – dahej nirodhak adhiniyam ka kya pravdhan hai
दहेज निरोधक अधिनियम के तहत क्या दंड है – dahej nirodhak adhiniyam ke tahat kya dand hai
दहेज निरोधक अधिनियम में क्या दंड है – dahej nirodhak adhiniyam me kya dand hai
भारत में दहेज निरोधक अधिनियम कब पारित हुआ था – bharat mein dahej nirodhak adhiniyam kab parit hua tha


निष्कर्ष दोस्तों आपको यह “भारत में दहेज निरोधक अधिनियम कब पारित हुआ था – Bharat Mein Dahej Nirodhak Adhiniyam Kab Parit Hua Tha का आर्टिकल कैसा लगा? निचे हमे कमेंट करके जरुर बताये. साथ ही इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर जरुर करे.